B.K.S.-Iyengar

B.K.S. Iyengar Inspirational Quotes To Motivate You



 अपनी रीढ़ की हड्डी को सीधा रखने पर ध्यान दीजिये। ये रीढ़ की हड्डी का काम है कि वो मस्तिष्क को सतर्क रखे।
 अपने चेतना की भावना को भीतर की ओर आकर्षित कर, हम मन के नियंत्रण, स्थिरता और शांति को अनुभव कर पाने में सक्षम हैं।
 आत्मविश्वास, स्पष्टता और करुणा एक शिक्षक के आवश्यक गुण हैं।
 आपका शरीर आत्मा की संतान है। आपको उस संतान का पोषण करना और उसे प्रशिक्षित करना चाहिए।
 आपका शरीर भूत में रहता है और आपका मन भविष्य में रहता है। योग में वे दोनों वर्तमान में साथ आ जाते हैं।
 आसन शरीर की ताकत और स्वास्थ्य को बनाये रखते हैं, जिसके बिना बहुत कम प्रगति की जा सकती है। आसन शरीर को प्रकृति के साथ सामंजस्य में रखते हैं।
 कुछ भी थोपा नहीं जा सकता, ग्रहणशीलता ही सब कुछ है।
 क्रिया बुद्धि के साथ गति है।
 जब आप किसी और में कोई गलती देखें, ये पता लगाने की कोशिश करें कि कहीं आप भी वही गलती तो नहीं कर रहे हैं।
 जब आप सांस लेते हैं , आप भगवान से शक्ति ले रहे होते हैं। जब आप सांस छोड़ते हैं तो ये उस सेवा को दर्शाता है जो आप दुनिया को दे रहे हैं।
 जब मैं अभ्यास करता हूं, मैं एक दार्शनिक हूं। जब मैं सिखाता हूं, मैं एक वैज्ञानिक हूं जब मैं कर के दिखाता हूं, मैं एक कलाकार हूं।
 जीवन का मतलब जीना है। समस्याएं हेमशा वहां होंगी। जब वे उठें उन्हें योग के द्वारा पार करो – क्रम मत तोड़ो।
 जीवन स्वयं आत्म-पूर्ती चाहता है जैसे पौधे प्रकाश चाहते हैं।
 प्रकृति और आत्मा का मिलन हमारे बुद्धि पर पड़े अज्ञानता के परदे हटा देता है।
 प्रेरित हो, लेकिन गर्वित नहीं।
 बदलाव यदि स्थिर न किया जा सके तो वो निराशा की ओर ले जाता है। परिवर्तन स्थिर किया हुआ बदलाव है, और इसे अभ्यास से प्राप्त किया जाता है।
 बस इसलिए कोशिश करना मत छोड़िये क्योंकि परफेक्शन आप से बहुत दूर है।
 यदि आप अपने पाँव के अंगूठे को नहीं जानते तो भगवान को कैसे जान पायेंगे?
 ये आपके शरीर द्वारा ही है कि आप जान पाते हैं कि आप दिव्यता की चिंगारी हैं।
 योग आपको एक नई तरह की स्वतंत्रता प्रदान करता है जिसके बारे में शायद आपको पता भी ना रहो हो कि वो मौजूद है।
 योग आपको जीवन में पुनः पूर्णता की भावना खोजने की अनुमति देता है।
 योग एक माध्यम है और एक अंत भी।
 योग वह प्रकश है जो एक बार जला दिया जाए तो कभी कम नहीं होता। जितना अच्छा आप अभ्यास करेंगे , लौ उतनी ही उज्जवल होगी।
 योग सिर्फ हमारे चीजों को देखने के तरीके को नहीं बदलता, यह उस व्यक्ति को बदल देता है जो देख रहा होता है।
 योग सोने की वो चाभी है जो अमन, शांति और ख़ुशी के दरवाजे खोलती है।
 योग हमें उन चीजों को ठीक करना सिखाता है जिसे सहा नहीं जा सकता और उन चीजों को सहना सिखाता है जिन्हे ठीक नहीं किया जा सकता।
 शब्द योग के महत्त्व क नहीं बता सकते- इसे अनुभव करना होता है।
 शरीर की लय, मन का स्वर और आत्मा का सद्भाव जीवन के संगीत का निर्माण करते हैं।
 शरीर के ऐलाइन्मेन्ट द्वारा ही मैंने अपने मन, आत्मा, और बुद्धि का ऐलाइन्मेन्ट सीखा।
 शरीर धनुष है, आसन तीर, और आत्मा लक्ष्य।
 शिक्षण की कला सहिष्णुता है। नम्रता सीखने की कला है।
 श्वासें मन की शासक हैं।
 सच्ची एकाग्रता जागरूकता का एक अटूट धागा है।
 सारे खेल बेमतलब हैं अगर आपको नियम ना पता हों।
 सिर बुद्धि की गद्दी है। ह्रदय भावना की गद्दी है।
 स्वास्थ्य; शरीर, मन और आत्मा के पूर्ण सद्भाव की स्थिति है।
 हीरे की कठोरता उसकी उपयोगिता का हिस्सा है, लेकिन उसकी असला कीमत उस प्रकाश में है जो उससे हो कर चमकता है।

Thoughts to Inspire Success in Your Life and Business

Leave a Reply